कृषि व्यापर शुरू करने के लिए किसानो को मिलेंगे 25 लाख रूपये, सरकार ने किया ऐलान इस तरह उठाये फायदा

कृषि व्यापर शुरू करने के लिए किसानो को मिलेंगे 25 लाख रूपये– कई सरकारी कार्यक्रम हैं जो किसानों को लाभान्वित करते हैं, और उन्हें उनका लाभ मिल रहा है। अब सरकार की इच्छा है कि देश के युवा भी कृषि से जुड़ें। युवा किसानों को इसे हासिल करने में मदद करने के लिए सरकार ने एक बहुत अच्छी योजना शुरू की है।

इस कार्यक्रम के तहत युवा किसानों को कृषि से संबंधित व्यवसाय शुरू करने के लिए 25 लाख रुपये तक की सहायता मिलेगी। दरअसल हरियाणा सरकार ने अपने युवाओं को कृषि से जोड़ने के मकसद से इस योजना की शुरुआत की थी।

युवाओं को किफायती दर पर नया व्यवसाय शुरू करने के लिए 25 लाख रुपये का ऋण प्रदान किया जाएगा और उन्हें कृषि व्यवसाय में प्रशिक्षण प्राप्त होगा। हरियाणा सरकार ने इसके लिए युवाओं, उद्यमियों और किसानों से आवेदन मांगे हैं।

Khabro

इस योजना का लाभ लेने के इच्छुक लोगों के लिए 31 अक्टूबर तक आवेदन देय हैं। ट्रैक्टर जंक्शन पर इस पोस्ट का उद्देश्य आपको हरियाणा सरकार की इस योजना के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करना है ताकि आप इसका पूरा लाभ उठा सकें।

क्या है हरियाणा सरकार की यह योजना

हरियाणा के युवाओं, उद्यमियों और किसानों को सहायता प्रदान करने के लिए राज्य सरकार ने एक विशेष योजना शुरू की है। इस कार्यक्रम के तहत कृषि स्टार्ट-अप को सरकारी धन प्राप्त होगा। इस योजना में, सरकार चयनित उद्यमियों को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए ऋण प्रदान करेगी।

हरियाणा सरकार और चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय, हिसार के सहयोग से यह विशेष योजना शुरू की गई है। विश्वविद्यालय से प्रशिक्षण प्राप्त करने के अलावा, चयनित व्यक्तियों को अपनी कंपनियां शुरू करने में भी सहायता प्राप्त होगी। इस तरह का एक कार्यक्रम हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के युवाओं को कृषि क्षेत्र से जोड़ने की कोशिश का नतीजा है ताकि उन्हें रोजगार मिल सके।

कैसे प्राप्त करें योजना का लाभ

जो लोग कृषि से जुड़े स्टार्टअप शुरू करने पर विचार कर रहे हैं, उन्हें इस मौके का फायदा उठाना चाहिए। चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय, हिसार, हरियाणा द्वारा एक उत्कृष्ट योजना शुरू की गई है। इसके लिए आपको एक कृषि व्यवसाय के लिए एक दिलचस्प व्यावसायिक विचार के साथ आना होगा।

अगर आपका बिजनेस आइडिया पसंद आता है तो यूनिवर्सिटी का एबिक सेंटर आपको अपना बिजनेस शुरू करने के लिए 25 लाख रुपये मुहैया कराएगा। इससे संबंधित संपूर्ण प्रशिक्षण भी आपको विश्वविद्यालय से प्राप्त होगा। कृषि व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए CCHAU में Ebic Center की स्थापना की गई। इस परियोजना के लिए विचार प्रस्तुत करने के लिए किसानों, उद्यमियों और युवाओं को आमंत्रित किया जाता है।

आपका विचार इन विषयों पर होना चाहिए

ऐसा माना जाता है कि उम्मीदवार कृषि जैव प्रौद्योगिकी, बागवानी, जैविक खेती, पशुपालन, मत्स्य पालन, सूक्ष्म सिंचाई, कृषि इंजीनियरिंग, कृषि मशीनीकरण, कम लागत उच्च उत्पादन, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन, हार्वेस्ट और पोस्ट हार्वेस्ट प्रक्रिया, खाद्य प्रक्रिया, कृत्रिम में रुचि रखते हैं।

कृषि, आदि में बुद्धिमत्ता और मूल्यवर्धन के साथ कुछ करना चाहिए। इसके अलावा, यदि आप किसी अन्य क्षेत्र से संबंधित कोई अन्य विचार देते हैं, तो उस पर विचार नहीं किया जाएगा।

चयनित उम्मीदवारों को इन विषयों में प्रशिक्षण दिया जाएगा

जिन उम्मीदवारों के विचारों का चयन संस्थान द्वारा किया जाता है, उन्हें अपना स्टार्टअप शुरू करने के लिए 25 लाख रुपये की सहायता मिलेगी। इसके अतिरिक्त, चयनित उम्मीदवार को एबिक सेंटर से मार्केटिंग, नेटवर्किंग, लाइसेंसिंग, पेटेंट, ट्रेडमार्क, टेक्नोलॉजी और फंडिंग से संबंधित प्रशिक्षण प्राप्त होगा। इस कार्यक्रम में दो माह का प्रशिक्षण होगा।

क्या है योजना के लिए पात्रता और शर्तें

  • इस योजना के लिए हरियाणा या पड़ोसी राज्य हरियाणा का निवासी होना आवश्यक है।
  • किसान, युवा और उद्यमी इस योजना के पात्र होंगे।
  • चयनित उम्मीदवार को एबिक सेंटर की मदद से हरियाणा में अपना व्यवसाय स्थापित करना होगा।
  • इस योजना की मुख्य शर्त यह है कि आपका विचार कृषि व्यवसाय से ही संबंधित होना चाहिए।

योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कैसे करें

इस योजना का लाभ लेने के लिए आप चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय एवं ईबिक सेंटर की वेबसाइट www.hau.ac.in पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए उम्मीदवार 31 अक्टूबर 2022 तक आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन के बाद चयनित सर्वोत्तम विचार पर विचार किया जाएगा और यदि विचार पसंद आया तो आपको संस्थान से वित्तीय सहायता और प्रशिक्षण दिया जाएगा।

योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको जिन प्रमुख दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, वे इस प्रकार हैं।

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक का पैन कार्ड
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति का डोमिसाइल सर्टिफिकेट
  • आवेदक बैंक खाता विवरण
  • आवेदक का फोटो
  • आवेदक के विचार आदि का पूरा विवरण।

स्टार्ट अप शुरू करने के लिए आपको बैंक से किस आधार पर लोन मिलेगा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक योजना के तहत न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 8वीं पास तय की गई है। आवेदन की तिथि के अनुसार सामान्य श्रेणी के उद्यमी के लिए आवेदक की आयु 18 से 35 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

पर वहीं, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, महिला, भूतपूर्व सैनिक, नक्सल प्रभावित परिवार के सदस्यों और विकलांग वर्ग के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए ऊपरी आयु सीमा में 5 साल की छूट होगी.

आवेदक किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक, वित्तीय संस्थान, सहकारी बैंक का ऋण चूककर्ता नहीं होना चाहिए। एक परिवार से केवल एक ही व्यक्ति आवेदन कर सकेगा आवेदक की वार्षिक पारिवारिक आय 3 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।

इसके अलावा इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए आवेदक और परिवार के किसी भी सदस्य को पूर्व में किसी भी सरकारी योजना का लाभ नहीं लेना चाहिए था।

Click to rate this post!
[Total: 1 Average: 1]
Kiran Yadav

Hey, My Name is Kiran. I'm the Owner of this Website. I'm in Banking Sector in Last 5 years . And I have 5 Years of experience in Loan, Finance, Insurance, Credit Card & LIC....

Leave a Reply