FEDERAL BANK Q3: मुनाफा 54 % बढ़कर 803.6 करोड़ रुपए पर रहा, एसेट क्वालिटी में सुधार

मुनाफा 54 % बढ़कर 803.6 करोड़ रुपए पर रहा– फेडरल बैंक द्वारा 31 दिसंबर 2022 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष 2023 की तीसरी तिमाही के वित्तीय परिणाम जारी कर दिए गए हैं। इस दौरान बैंक का मुनाफा साल-दर-साल 54 फीसदी बढ़कर 803.6 करोड़ रुपये हो गया। 715 करोड़ रुपये के अनुमान के बावजूद। इसी तरह बैंक ने पिछले साल की तीसरी तिमाही में 521.7 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया।

ब्याज आय 1956 करोड़ रुपए रही

फेडरल बैंक की ब्याज आय 31 दिसंबर 2022 को समाप्त तीसरी तिमाही में 1956 करोड़ रुपये रही। 1847 करोड़ रुपये के अनुमान के बावजूद। तीसरी तिमाही में सालाना आधार पर बैंक की ब्याज आय में 27 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई है।

बैंक के पिछले वित्तीय वर्ष के आय विवरण के अनुसार, ब्याज आय 1538.9 करोड़ रुपये थी। बैंक का परिचालन लाभ रुपये से बढ़ा। 914 करोड़ रु. तीसरी तिमाही में सालाना आधार पर 1274 करोड़ रुपए।

ऐसी और जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमसे जुड़े
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

फेडरल बैंक की एसेट क्वालिटी में सुधार

31 दिसंबर, 2022 तक फेडरल बैंक की एसेट क्वालिटी में सुधार हुआ है। तिमाही-दर-तिमाही तुलना बैंक के सकल एनपीए में 2.46 प्रतिशत की कमी और शुद्ध एनपीए में 0.73 प्रतिशत की कमी दर्शाती है।

इसे भी पढ़ें- Amazon Pay ICICI Credit Card: Amazon यूजर्स को मिलेगी खुशखबरी! जल्द आ सकता है सस्ता Prime प्लान, इतनी होगी कीमत

रुपये के लिहाज से देखें तो फेडरल बैंक का ग्रॉस एनपीए वित्त वर्ष 2023 की तीसरी तिमाही में 4031.1 करोड़ रुपये से बढ़कर 4147.4 करोड़ रुपये हो गया। इसके अलावा नेट एनपीए 1262.4 करोड़ रुपये से घटकर 1228.6 करोड़ रुपये रह गया है। तीसरी तिमाही में, फेडलर बैंक ने 214 करोड़ रुपये का प्रावधान किया, जो पिछले वर्ष के 199 करोड़ रुपये से कम था।

इसे भी पढ़ें- पेटीएम पेमेंट्स बैंक को RBI की मंजूरी: अब भारत बिल पेमेंट ऑपरेटिंग यूनिट के रूप में काम कर सकेगा

तीसरी तिमाही में फेडरल बैंक के नए एनपीए (स्लिपेज) में तिमाही-दर-तिमाही 390 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ चौथी तिमाही में 412 करोड़ रुपये की वृद्धि हुई। इस बीच, पुनर्गठित बही को 3892 करोड़ रुपये से घटाकर 3735 करोड़ रुपये कर दिया गया है।

पिछली तिमाही में 3.30 फीसदी के मुकाबले 3.49 फीसदी का नेट इंटरेस्ट मार्जिन हासिल किया गया है. नवीनतम तिमाही की रिपोर्ट के अनुसार, पुनर्गठित अनुपात 2.41 से गिरकर 2.22 प्रतिशत हो गया। साल-दर-साल आधार पर तीसरी तिमाही में बैंक की लोन ग्रोथ 17.1 फीसदी रही और तिमाही आधार पर ग्रोथ 4.3 फीसदी रही.

Kiran Yadav

Hey, My Name is Kiran. I'm the Owner of this Website. I'm in Banking Sector in Last 5 years . And I have 5 Years of experience in Loan, Finance, Insurance, Credit Card & LIC....

Leave a Reply